पानी पिने का सही तरीका क्या है  - हिंदी में..💧💧🥛

पानी पिने का सही तरीका क्या है - हिंदी में..💧💧🥛


Hello Guys, स्वागत है आपका Hindimelekh.com परतो आज आप जानने वाले हो की पानी पिने का सही तरीका क्या है - पूरी जानकारी हिंदी मेंतो इस लेख में हमने सभी प्रकार के पानी पिने के तरीके बताये है, जिनमे इस्लाम के मुताबिक पानी कैसे पिए और आयुर्वेद के नुसार पानी कैसे पिए आदी शामिल है.

 

दोस्तों हम में से अक्सर लोग पानी को इतना साधारण समजते है, की हम जब चाहे, जैसे चाहे, जितनी मात्रा में चाहे पानी पि सकते है. लेकिन हमारा ऐसा सोचना बिक्ल्कुल ही गलत है. क्यों की पानी देखने में जितना साधारण लगता है, यह हमारे शरीर के सभी अंगो को ठीक तरह से काम करने में और शरीर में बनने वाले जहरीले पदार्थ को बहार निकलने में उतना हि जरुरी होता है.


पानी पिने का तरीका


 

पेट से लेकर त्वचा तक और वजन बढ़ने से लेकर वजन घटने तक पानी एक बोहोत बड़ा रोल प्ले करता है. इसलिए पानी की सही मात्रा इसके पिने का सही समय और पानी को किस तरह पिने से क्या क्या फायदे और क्या क्या नुकसान होते है अगर इस बारे में जानकारी न हो तो व्यक्ति चाहे जितनी भी अच्छी से अच्छी चीज खाले उसका सही फायदा शरीर को मिल हि नहीं पाता.

 

और जिसकी वजह से भविष्य में बोहोत सारी Health problem को Face करना पड़ता है. जैसे की अपचन, कब्ज, गैस, लीवर की कमजोरी, सुस्ती आना, गुर्दे की पथरी, रोग प्रतिरोधक शमता में कमी. बार बार बीमार पड़ना, स्किन एलर्जी, दाद, खुजली, चेहरे पर पिम्पलस और दाग धब्बो का होना, White heads, Black heads, स्किन का बोहोत ज्यादा Oily या बोहोत ज्यादा Dry होना.

 

खाया पिया शरीर को ना पचना, जोड़ो में दर्द होना, body fatt बढना, सर दर्द और चक्कर आना, वजन बढ़ने में या घटने में दिक्कत महसूस करना, बालो का झड़ना, और रातो को नींद ना आने जैसी कई बीमारीया लगभग 40 से ज्यादा बीमारिया सिर्फ पानी को गलत मात्रा में और गलत तरीके से पिने से हो सकती है.

 

अनुक्रमाणिका:- 

  • पानी हमारे शरीर के लिए इतना जरुरी क्यों है?
  • शरीर में पानी की कमी का कैसे पता लगाये?
  • 1 दिन में कितना पानी पीना चाहिए?
  • एक बार में कितना पानी पीना चाहिए?
  • पानी कैसे पिए?
  • किस तरह का पानी पीना चाहिए ठंडा/गर्म?
  • पानी पिने का सही समय क्या है?
  • Exercise करते समय या करने के बाद
  • पानी वजन बढाने में और घटाने में कैसी मदद करता है?


पानी हमारे शरीर के लिए इतना जरुरी क्यों है

तो चलिए जानते है, की आखिर पानी हमारे शरीर के लिए इतना जरुरी क्यों है. दोस्तों हमारे शरीर में 70% से 75% तक पानी होता है, हमारे द्वारा पिए गए पानी का इस्तमाल हमारे इंटरनल Organs जैसे की Kidney, लीवर और फेफड़े, पाचन तंत्र और लगभग शरीर के सभी हिस्सो को ठीक तरह से काम करने और सबसे ज्यादा हमारे शरीर की कोशीकावो को जिन्दा रखने के लिए होता है.

 

·     शरीर में पानी की कमी का कैसे पता लगाये

सवाल ये उठता है की, अगर आपके शरीर में पानी की कमी हो गयी तो उसे किस तरह पता लगाया जा सकता है. शरीर में पानी की कमी होते ही पेशाब का रंग पिला पड़ जाता है, पाचन शक्ति कमजोर होने लगती है, चेहरे और शरीर की स्किन धीरे-धीरे रुखी और ढीली पड़ने लगती है. 

और अगर शुरू में ही पानी के पिने के सही तरीके पर ध्यान न दिया जाये, तो ये लक्षण भविष्य में गंभीर बीमारी का रूप भी ले सकती है. इसलिए हर दिन एक नियमित रूप में पानी का पीना बोहोत जरुरी होता है.

 

·     1 दिन में कितना पानी पीना चाहिए?

बात आती है की, दिन भर में कितना पानी पीना चाहिए, तो दोस्तों उसके लिए हमें ये जनना होगा की पानी में क्या-क्या होता है और ये कौन-कौन से समस्यावो में फायदा पोहचता है. दोस्तों पानी में 0- calories होने के बावजूद ये हमारे शरीर को हाइड्रेट करके शरीर से जहरीले पदार्थ को बहर निकालने में बोहोत मदद करता है.

 

स्किन को साफ रखता है. दिमागी ताकत, पाचन क्रिया, आख, हड्डी और लगभग हमारे शरीर के सभी अंगो को ठीक तरह से काम करते रहने में बोहोत मदद करता है.

 

इसलिए हमारे लिए पानी इतना जरुरी होता है, की चाहे खाए बिना कोई व्यक्ति लम्बे समय तक रहले, लेकिन पानी के बिना कुछ दिन भी जीवित रह पाना संभव नहीं है. क्योकि मल, पसीना, पेशाब और सास लेने की प्रक्रिया में लगभग 2 लीटर पानी हमारे शरीर से हर दिन बाहार निकल जाता है, जिसे Re-store करना बोहोत जरुरी होता है.

 

वैसे तो किसी भी व्यक्ति को दिन भर में कितना पानी पीना चाहिए, ये उस व्यक्ति की सेहत, वो जहा रहता है उस जगह का मौसम, उसके वजन और उसकी Physical Activities पर निर्भर करता है.

 

 लेकिन एक सामान्य व्यक्ति को, दिन भर में 2.5 लीटर से  3 लीटर पानी जरुर पीना चाहिए, जो की एक Avrage साइज़ के ग्लास से 8 से 12 ग्लास होते है. 

और गर्मी के मौसम में क्योकि ज्यादा पसीना निकलता है इसलिए पानी की थोड़ी मात्रा भी बढाई जा सकती है. और जो लोग exersice करते है उन्हें भी आम लोगो के मुकाबले थोड़ी ज्यादा मात्रा मे पानी पीना चाहिए क्योकिं उनके शरीर में पानी की खपत ज्यादा मात्रा में होती है.

 

अब यहा भी सवाल यह उठता है की, जरुरत से ज्यादा पानी पि लेने पर शरीर को कोई नुकसान हो सकता है?

इसका जवाब बोहोत हि simple है, की कोई भी चीज अगर ज्यादा की जाये तो बोहोत ही ज्यादा नुकसान देती है. ज्यादा मात्रा में पानी पिने से हमारी kidney का काम बढ़ जाता है, खून में sodium level के कम होने के chances बोहोत ज्यादा रहते है. 

 

लेकिन ऐसा काफी कम होता है, क्योकि अक्सर लोग उतना भी पानी नहीं पि पाते जितना की पानी पिने की लिमिट होती है. और ऐसा नुकसान तब होता है, जब कोई व्याक्ति एक बार में चार या पाच लीटर से ज्यादा पानी पीले.

 

 एक बार में कितना पीना चाहिए?

जब आप पानी पीते हो तो एक बार में 1 या ½ ग्लास या फिर जितनी प्यास हो उतना ही पानी पीना चाहिए, क्योकि एकही बार में ज्यादा पानी पि लेने से हमारी kidney उसे ठीक तरह से filter नहीं कर पाती और पानी हमारे शरीर में इस्तमाल हुए बिना ही पेशाब के जरिये शरीर से बाहर निकल जाता है.

 

पानी कैसे पिए

दोस्तों कुछ लोगोको लगता है, की पानी को जब चाहे और जैसे चाहे पिया जा सकता है. लेकिन ऐसा सोचना बिलकुल भी सही नहीं है, क्यों की एक हि तरह के पानी को अलग-अलग तरीको से पिने से इसका शरीर पर अलग-अलग तरह से असर होता है. 

 

इसलिए पानी को बैठ कर और धीरे-धीरे पीना चाहिए जैसे की, पानी को मुह में रखकर 4 से 5 second के लिए उसे इधर-उधर घुमाये और फिर निगले.

 

ऐसा करने से, हमारे मुह में मौजूद लार जो की अल्कालीन होती है पेट में जाकर पेट की Acidic प्रॉपर्टीज को शांत करता है जिससे की पाचन शक्ति को बढ़ने में बोहोत मदद मिलती है.  

 

जबकि खड़े होकर जल्दी-जल्दी  पानी पिने से हमारी kidney उसे ठीक तरह से filter नहीं कर पाती और पानी मुह से हटाकर कर उप्पर से पिने से पानी के साथ-साथ बहार मौजूद बोहोत सारी गैसेस भी हमारे शरीर में प्रवेश करने लगती है, जिससे की भविष्य में जोड़ो में दर्द होने के chances बोहोत ज्यादा रहते है. इसलिए पानी हमेशा बैठकर धीरे-धीरे 3 से 4 सासों में ही पीना चाहिए.

 

किस तरह का पानी पीना चाहिए ठंडा/गर्म?

दोस्तों कोई भी बोहोत ज्यादा ठंडी चीज हम खाते है या पिते है, तो हमारा शरीर पहले उसे गर्म करता है और फिर काम में लेता है. पानी के साथ भी कुछ ऐसा हि होता है जब हम फ्रिज का ठंडा पानी पि लेते है तो वो हमारे पेट में पहले गर्म होता है और फिर काम में आता है, जब तक की इस प्रोसेस में हमारी बोहोत सारी एनर्जी वेस्ट हो जाती है.

 

और हमारे शरीर को भी इस पानी को इस्तेमाल में लाने के लिए तब तक इंतजार करना पड़ता है जबतक की पानी पेट में गर्म नहीं हो जाता. और साथ हि साथ ठंडा पानी हमारे शरीर में खाए गए खाने को बोहोत हि ज्यादा सक्त बना देता है जिससे की पाचन क्रिया बोहोत धीमी पड़ जाती है और कब्ज होने के Chances बोहोत ज्यादा बढ़ जाते है.

 

इसीलिए पानी हमेशा नोर्मल या हल्का गर्म ही पीना चाहिए, क्योकि हल्के गर्म पानी को हमारा शरीर तुरंत काम में लेता है और हमारे द्वारा खाए गए खाने को तोड़ने में भी हल्का गर्म पानी बोहोत मदद करता है. जिससे पाचन शक्ति बढती है और पेट भी खुलकर साफ हो पाता है.

 

पानी पिने का सही समय

पानी कब नहीं पीना चाहिए

दोस्तों ये ऐसी बाते है जहा अक्सर लोग गलती करते है और कई सारी बीमारियों के शिकार हो जाते है. पानी कब पीना चाहिए उससे ज्यादा जरुरी है, की पानी कब नहीं पीना चाहिए.

 

खाना खाने के बाद, वैसे तो खाना खाते वक्त पहले या बाद में एक या दो घुट पानी पिने में कोई बुरायी नहीं है, बल्कि खाना खाने से पहले एक या दो घुट पानी पिने से सूखे खाने भी गले से आसानी से उतरते है और हिचकी भी नहीं आती. लेकिन यहाँ एक या दो घुट पानी पिने का मतलब है, की गला भीगने जितना ही पानी पीये.

 

 लेकिन खाना खाने के दौरान पहले या बादमे ग्लास भरकर या ज्यादा मात्रा में पानी पीना बिल्कुल भी सही नहीं है

क्योकि खाना खाने के तुरंत बाद पानी पि लेने से ये हमारे द्वारा खाए गए खाने को बोहोत पतला बना देता है और तब हमारे पेट में पाचक रस भी ठीक से नहीं निकल पाते जिससे हमारी पाचन क्रिया बोहोत धीमी पड़ जाती है. इसलिए पानी हमेशा खाना खाने के 45 मिनिट से 1 घंटा बाद हि पानी पीना चाहिए.


रत को सोते समय

रातको सोने से तुरंत पहले या अचानक नींद खुलने पर पानी पीकर सोना. तो दोस्तों दिन के समय पानी जितना हमारे लिए जरुरी होता है उसी तरह रात के समय ज्यादा पानी पिने से नुकसान भी हो सकता है. 

क्योकि सोते समय हमारा शरीर Active नहीं रहता जिससे पानी हमारे शरीर में ठीक से इस्तेमाल हुए बिना हि kidney में filter होने के लिए पोहोच जाता है, जहा ये हमारे kidney को बोहोत नुकसान पोहोचता है और नीद से उठकर बार-बार Toilet जाने की भी जरूरत पड़ सकती है जिससे की दोबारा नींद आने में बोहोत मुश्किलों का सामना करना पडता है.

 

इसलिए जितना हो सके दिन के टाइम में हि पानी की लिमिट को पूरा करने की कोशिश करना चाहिए और साथ हि, दो बार पानी पिने के बिच 45 मिनिट से 1 घंटे का gape जरुर होना चाहिए क्योकि जल्दी जल्दी पानी पिते रहने से पानी हमारे शरीर में इस्तमाल हुए बगेर हि पेशाब के जरिये बहार निकल जाता है और इस से जल्दी जल्दी toilate जाने की समस्या भी शुरू हो सकती है.

 

इसलिए की जब आपको लगे की आपका पेशाब पिला नहीं है बल्कि पानी की तरह बिल्कुल साफ है इसका मतलब ये है की, फ़िलहाल आपकी body को पानी की बिल्कुल भी जरुरत नहीं है.

 इसलिए पेशाब करने के बाद पानी पिने के लिए 15 से 20 मिनिट का gape जरुर रखे ताकि हमारे kidney को रेस्ट लेने के लिए थोडा मौका मिल सके नहीं तो जल्दी जल्दी पानी पिने से बार बार पेशाब आने और पेशाब को ठीक से रोक न पाने की समस्या शुरू हो सकती है.


फल खाने के बाद

अक्सर फल और ऐसी सब्जी जैसे खीरा और टमाटर को अगर आप कच्चा खाते है, तो उसके तुरंत बाद पानी को बिल्कुल भी नहीं पीना चाहिये और उसी तरह केला, तरबूज, अनार, संत्रा और दुसरे फल खाने के बाद भी तुरंत पानी बिल्कुलभी नहीं पीना चाहिए क्योकि ऐसा करने से खायी हुई चीज बोहोत सक्त हो जाती है.

 

जिससे पाचन क्रिया धीमी हो जाती है और कुछ लोगो को तो सर्दी जुखाम भी हो जाता है, साथ हि साथ बोहोत ज्यादा गर्म चीजे जैसे की चाय, कॉफ़ी, सूप जैसी चीजो को पिते है तब भी आपको तुरंत पानी नहीं पीना चाहिए.

 

क्यों की इन चीजो को पिने के बाद तुरंत पानी पिने से दातो को और मसुडो को नुकसान पोहोचता है.


पानी कब पीना चाहिए ?

अब बात आती है, कब-कब पानी पीना चाहिए यानि पानी पिने का सही समय क्या है. दोस्तों जिस तरह हम खाना खाने से पहले प्लेट को साफ करते है और फिर खाते है, उसी तरह हमें हर सुबह कुछ भी खाने या पिने से पहले अपने पेट की सफाई जरुर करनी चाहिए जिसके लिए पानी से बेहतर और कुछ भी नहीं.

 

सुबह खली पेट पानी पिने से रात को सोते वक्त पेट में पलने वाले जहरीले पदार्थ की काफी हद तक सफाई हो जाती है, लेकिन जो लोग खली पेट पानी पीये बिना हि कुछ भी खाते है या पिते है, तो ये बिल्कुल ऐसा हि हो जाता है की जैसे झूठी प्लेट को बिना साफ किये हि उसमे खाना खा लेना.

इसलिए 1से 2 ग्लास पानी सुबह खली पेट और 1-1 ग्लास कर पानी दिन के खाना खाने के 45 मिनिट से 1 घंटा पहले या बादमे पीना चाहिए. उसी तरह रात के समय पानी कम मात्रा में पीना चाहिए और रात का खाना खाने के दो घंटे बाद पानी की जगह दूध का सेवन करना चाहिए क्योकि दूध में मौजूद प्रोटीन पूरी रात शरीर को energy प्रदान करता है और इसमें मौजूद Tryptophane नाम का emino acide दिमाग को शांत करके अच्छी नीद देने में बोहोत मदद करता है.

 

दिन में जब भी आप पानी पिए, तो दो बार पानी पिने के बिच लगभग एक घंटे का अंतराल रखते हुए पानी पिने का खास ख्याल रखे. ताकि पुरे दिन में ढाई से तिन लीटर पानी पूरा किया जासके.


Exercise करते समय पानी कैसे पिए

अगर आप धुप से होकर आते है या Running, Exercise और Gym करते है तो उस दोरान एक बार में ग्लास भर के पानी बिल्कूल नहीं पीना चाहिए.

 

क्यों की उस वक्त हमारे शरीर का Temprature high रहता है, तो उस वक्त ज्यादा पानी पि लेने से हमारे शारीर को फायदे की बजाय नुकसान होता है.

और Exersice या Weight lifting में भी Problem को Face करना पड़ सकता है, इस लिए Exersice के दौरान 2 3 घुट पानी हि पीना चाहिये और फिर जब भी आपको प्यास लगे तो फिरसे आपको एक चौथाई यानेकी 2 3 तिन घुट पानी पिए.

 

Exersice ख़तम करने के ½ - 1 घंटे बाद आप ग्लास भर कर भी पानी पि सकते है लेकिन exersice के दौरान थोड़ी थोड़ी मात्रा में पानी पीना चाहिए पानी के इस तरह से इस्तेमाल करने से हमारी सेहत से जुडी बोहोत सी समस्या काफी हद तक ठीक हो जाती है.


पानी वजन बढाने में और घटाने में कारगर 

साथ हि साथ हमारा पाचन भी ठीक रहता है जिसकी वजह से वजन बढाने और घटाने में भी बोहोत मदत मिलती है, क्योकि जबतक किसी व्यक्ति का पाचन ठीक न हो तो वजन का बढ़ाना और घटाना संभव नहीं है. 

पानी पिने के इस तरीके को अपनाने के कुछ हि हफ्तों बात आपकी सेहत में बोहोत हि सुधार मेहसूस होने लगेगा, और जब ऐसा होंगा तो वापस आकर आपको इसी लेख के comment box में आपका कीमती feedback जरुर देना है.

 

आज आपने क्या सिखा?

तो आज हमने इस complete article में जाना है की पानी पिने का सही तरीका क्या है. तो आशा करते है की आपको इस लेख के द्वारा काफी मदद मिली होंगी और आपके समस्या का समाधान हुआ होंगा.

 

हमारी हमेशा यह कोशिश रहती है की readers को किसी भी पोस्ट के बारे में जैसे की यह पोस्ट पानी पिने का सही तरीका क्या है, ऐसे विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे site या internet पर उस article को खोजने की जरुरत न पड़े.

 

इससे reders का समय भी बचेंगा और एक हि जगह पर सभी तरह की information भी मिल जाएँगी. अगर आपका कोई सवाल है तो आप हमें comment box में पूछ सकते है

 

और इसी तरह के helpful articles पढने के लिए आप हमारी site Hindimelekh.com को Login कर सकते है. और साथ ही आप हमारी Website को Bookmark कर लीजिये, ताकि आपको हमें ढूंडने मे और हमें आपकी Help करने में आसानी हो.

 

 अगर आपको यह post पानी पिने के फायदे पसंद आयी हो या कुछ सिखने मिला हो तो कृपया इस पोस्ट को Social Media जैसे की Whatsapp, facebook, Twitter, Telegram पर  share कीजिये.

 और हमें आप social media पर Follow जरुर करे जहासे आपको Daily Updates मिलती रहेंगी.

 धन्यवाद ...!

 


0 Response to "पानी पिने का सही तरीका क्या है - हिंदी में..💧💧🥛"

Post a Comment

Ads on article

Advertise in articles 1

advertising articles 2

Advertise under the article